Uncategorized

#AAPGayab 16 सितम्बर भगौड़ा दिवस-चार्जशीट एवं अपील


16 सितम्बर भगौड़ा दिवस

चार्जशीट एवं अपील

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन

की

AAP पार्टी की दिल्ली सरकार, भाजपा शासित निगम व केन्द्र सरकार के खिलाफ

 

AAP पार्टी की दिल्ली सरकार, तीनों नगर निगमों में शासित भा.ज.पा. व केन्द्र की भा.ज.पा. सरकार की विफलता के कारण दिल्ली में चिकनगुनिया व डेंगू जैसी बीमारियों के महामारी का रुप लेने के खिलाफ आप पार्टी की दिल्ली सरकार, तीनों नगर निगमों में शासित भा.ज.पा. व केन्द्र की भा.ज.पा. सरकार के खिलाफ हमारी चार्जशीट।

 

1.​जिस समय दिल्ली में चिकनगुनिया तथा डेंगू जैसी बीमारियों ने महामारी का रुप लिया हुआ था ऐसे समय में दिल्ली के कर्णधार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल बैंगलोर, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया फिनलैंड तथा दिल्ली के उपराज्यपाल अमरीका भागे हुए थे तथा एक मेयर भी विदेश में सैर सपाटा कर रहे हैं।

 

2.​इस महामारी के बाद गैरजिम्मेदारान बयान देते हुए ।।च् पार्टी के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल कहते है कि उनके पास पैन खरीदने तक का अधिकार नही है। यदि उनके पास पैन खरीदने तक का अधिकार नही है तो उन्होंने कैसे दिल्ली के विधायकों का वेतन 400% बढ़ाकर 3 लाख रुपये प्रतिमाह का बिल पास कर दिया तथा विधायकों के विधायक फंड को बढ़ाकर 10 करोड़ करके कैसे 700 करोड़ विधायकों को दे डाले। यदि केजरीवाल के पास पैन खरीदने तक का अधिकार नही है तो उन्होंने कैसे अपनी सरकार के प्रचार प्रसार के लिए 526 करोड़ के बजट का प्रावधान कर लिया था। केजरीवाल को विधायकों का वेतन व विधायक फंड बढ़ाने तथा प्रचार प्रसार के लिए करोड़ों रुपये का प्रावधान करने का अधिकार है। परंतु जनसेवा करने के लिए उनके पास पैसा नही हैं और नए-नए बहाने ढूंढ कर अपनी नाकामी को छिपाते फिरते है। यह केजरीवाल की कैसी भगौड़ी सरकार है?

3.​दिल्ली की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है। अस्पतालों में मरीजों के लिए जगह नही है। डिस्पेन्सरियों में न डाक्टर है और न दवाईयां है।

 

4.​AAP पार्टी की दिल्ली सरकार ने दिल्ली में 100 मौहल्ला क्लीनिक खोलने का दावा करते हुए अपनी पीठ थपथपाई थी तथा इन मौहल्ला क्लीनिकों के प्रचार व प्रसार के लिए दिल्लीवासियों के करोड़ो रुपये बर्बाद कर दिए। यह मौहल्ला क्लीनिक केवल 4 घंटे के लिए खुलते हैं। जहां डाक्टरों व दवाईयों का असीम अभाव है। आर्थिक सर्वे 2014 के अनुसार दिल्ली में कांग्रेस के राज के आखिरी वर्ष यानि 2013 में दिल्ली में 95 अस्पताल थे, 1389 डिस्पेन्सरियां, 267 मेटरनिटी होम, 973 पोलीक्लीनिक तथा 16 मेडिकल कालेज थे तथा 48096 बैड मरीजों के लिए उपलब्ध थे। कांग्रेस के शासन के बाद 3 वर्षों में दिल्ली की स्वास्थ्य व्यवस्था में कोई बढ़ौतरी नही हुई है उल्टे दिल्ली का विकास रुकने से स्वास्थ्य सेवाऐं भी चरमरा गई है।  

 

5.​AAP पार्टी की दिल्ली सरकार तथा भा.ज.पा. शासित तीनों नगर निगमों ने मानसून से पहले की समस्याओं के हल के लिए कोई तैयारी नही की थी जबकि कांग्रेस के शासन काल में मुख्यमंत्री की अगुवाई में दिल्ली के सभी विभिन्न विभागों की बैठक मानसून से काफी पहले बुलाई जाती थी तथा मानसून के समय होने वाली समस्याओं से निपटने के लिए एक रोड़मेप तैयार किया जाता था। जबकि पिछले 3 वर्षों से इस प्रकार की कोई मीटिंग नही हुई। दिल्ली सरकार के पीडब्लूडी विभाग के अंदर 1005 सड़के आती है जिनके अन्तर्गत आने वाले नालों की गाद (Desilting) 15 जून तक हो जानी चाहिए थी। परंतु इस वर्ष 6 जुलाई तक पीडब्लूडी के अन्तर्गत आने वाली केवल 311 सड़कों के नालों की गाद (Desilting) निकाली गई थी। अर्थात 70% सड़कों के नालों की सफाई ही नही हो पाई थी। जिसके कारण दिल्ली में भारी जल भराव हुआ और दिल्ली में चिकनगुनिया व डेंगू जैसी बीमारियों ने महामारी का रुप ले लिया।

 

6.​ऐसा लगता है कि दिल्ली सरकार ने द्वेष की भावना के चलते निगमों के बजट में कटौती की है जबकि कांग्रेस ने कभी भी बदले की भावना से कार्य नही किया। अपने आखिरी वर्ष 2013-14 में कांग्रेस की दिल्ली सरकार ने तीनों नगर निगम को दिल्ली के प्लान-बजट का 11.76% फंड दिया था जबकि AAP पार्टी की दिल्ली सरकार ने इस वर्ष अपने प्लान बजट का केवल 8.31% फंड ही दिया था अर्थात निगम के बजट में कटौती कर डाली। दूसरी ओर तीनों निगमों को जो फंड दिया गया था वह उसका इस्तेमाल सही तरह से करने में विफल रही है।

 

7.​चिकनगुनिया, डेंगू व मलेरिया को लेकर जारी किए गए आंकडे़ भ्रमित करने वाले है क्योंकि सरकार के अनुसार 15 सितम्बर तक डेंगू के 1158, चिकनगुनिया 1057 तथा मलेरिया के 21 मामले दिल्ली में दर्ज हुए है जबकि सच्चाई कुछ और ही है। और इन आंकड़ों से कई गुणा ज्यादा लोग दिल्ली में इन बीमारियों से प्रभावित हुए हैं। दिल्ली में 10 मासूम लोगों को चिकनगुनिया के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी। दिल्ली में कोई घर या परिवार ऐसा नही है जहां इनसे प्रभावित लोग न हो।

 

ऐसे समय में स्वास्थ्य मंत्री का यह बयान कि चिकनगुनिया से मौत नही हो सकती, उनकी गैर संवेदनशीलता को दर्शाता है। जबकि विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा जारी अप्रैल 2015 की रिपोर्ट में यह कहा गया था कि उत्तरी व दक्षिणी अमरीका में 191 लोगों की मौत चिकनगुनिया से हुई थी।

 

8.​दिल्ली में सफाई के लिए अतिरिक्त सफाई कर्मचारियेां की आवश्यकता है परंतु इसके विपरित 5 जनवरी 2016 को AAP पार्टी की दिल्ली सरकार के मुख्यमंत्री, मुख्य वित्त सचिव व निगम आयुक्तों की बैठक में नगर निगमों को 551 करोड़ रुपये का कर्ज देते समय AAP पार्टी की दिल्ली सरकार ने यह शर्त रखी थी कि सफाई कर्मचारियों की नई भर्ती नही होगी तथा नगर निगम में कार्य कर रहे अस्थाई कर्मचारियों एवं बेलदारों को एक साल के अंदर नौकरी से हटाना पडेगा। इस प्रकार AAP पार्टी की दिल्ली सरकार ने दिल्ली की सफाई व्यवस्था के खराब होने में बहुत बड़ा योगदान दिया है।

 

अपील

 

9.​दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया जल्द से जल्द अपने दौरे को रद्द करके दिल्ली वापस आयें तथा दिल्ली में चरमराई स्वास्थ्य व्यवस्था व चिकनगुनिया तथा डेंगू जैसी महामारी से प्रभावित दिल्लीवासियों की सुध लें।

 

10.​AAP पार्टी की दिल्ली सरकार, उपराज्यपाल तथा तीनों निगमों के सर्वोच्च अधिकारी आपस में मतभेद भुलाकर चिकनगुनिया व डेंगू के कारण दिल्ली में फैले महामारी जैसे हालात पर काबू पाने के लिए मिलकर कार्य करें ।

 

11.​केन्द्र सरकार दिल्ली में सेना एवं अर्धसैनिक बलों के डाक्टरों व पेरामेडिकल स्टाफ को दिल्ली के अस्पतालों व डिस्पेन्सरियों में तुरंत प्रभाव से तैनात करें तथा दिल्ली में स्वास्थ्य सेवाऐं तथा इन बीमारियों के परीक्षण के लिए मुफ्त सेवाऐं प्रदान करें। ताकि दिल्ली के लोगों को इन बीमारियों से राहत मिल सके।

 

12.​दिल्ली में तुरंत प्रभाव से युद्ध स्तर पर मच्छर मारने के लिए धुंए की फोगिंग (Fumigation) कराई जाये। इसके लिए भी सैन्य एवं अर्धसैनिक बलों की मदद ली जाए।

 

13.​सरकार को SOP (Standard Operating Procedure) – (मानक संचालन प्रक्रिया) बनानी चाहिए ताकि हर वर्ष मानसून से पहले ही निगम एवं विभिन्न विभाग अपनी तैयारी स्वतः कर सकें। मुख्यमंत्री कार्यालय को इसकी मोनीटरिंग करनी चाहिए।

 

कांग्रेस पार्टी द्वारा चिकित्सा हैल्पलाईन की शुरुआत

 

14.​दिल्ली कांग्रेस ने अपनी सामाजिक जिम्मेदारी निभाते हुए चिकनगुनिया तथा डेंगू जैसी बीमारियों से जूझ रहे लोगों के लिए वाट्सएप व एस.एम.एस. के लिए हैल्पलाइन नम्बर 9891620771 जारी किया है। जिसके तहत प्रदेश कार्यालय में दो डाक्टरों का एक मेडिकल कंट्रोल रुम बनाया गया है जिसके द्वारा चिकनगुनिया, डेंगू जैसी बीमारियों से प्रभावित लोगों की मदद की जा रही है। कांग्रेस कार्यालय में मिल रही इन बीमारियों के लिए उचित चिकित्सीय परामर्श दिया जा रहा है और जरुरत पड़ने पर क्षेत्र के जिला अध्यक्ष व ब्लाक अध्यक्ष को प्रभावित लोगों की मदद के लिए उनके घर भेजकर उचित मदद की जा रही है।

Advertisements

Categories: Uncategorized

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s